The song “Bachchon Tum Taqadiir Ho Kal Ke Hindustaan Kii” from the movie Didi is a famous Song, sung by Mohammad Rafi. The song is composed by N Dutta with lyrics written by Sahir Ludhianvi.

Movie: Didi
Singer(s): Mohammad Rafi
Musician(s): N Dutta
Lyrics: Sahir Ludhianvi

Bachchon Tum Taqadiir Ho Kal Ke Hindustaan Kii Song Lyrics-Didi

र : बच्चों तुम तक़दीर हो कल के हिन्दुस्तान की
बापू के वरदान की नेहरू के अरमान की
बच्चों तुम तक़दीर …

आज के टूटे खँडहरों पर तुम कल का देश बसाओगे
जो हम लोगों से न हुआ वो तुम कर के दिखलाओगे
( तुम नन्हीं बुनियादें हो ) -२ दुनिया के नए विधान की
बच्चों तुम तक़दीर …

आ : दीन-धरम के नाम पे कोई बीज फूट का बोए ना
जो सदियों के बाद मिली है वो आज़ादी खोए ना
दो : ( हर मज़हब से ऊँची है ) -२ क़ीमत इन्सानी जान की
बच्चों तुम तक़दीर …

र : फिर कोई जयचन्द न उभरे फिर कोई जाफ़र न उठे
ग़ैरों का दिल ख़ुश करने को अपनों पर खंज़र न उठे
दो : ( धन-दौलत के लालच में ) -२ तौहीन न हो ईमान की
बच्चों तुम तक़दीर …

आ : नारी को इस देश ने देवी कह कर दासी जाना है
जिसको कुछ अधिकार न हो वो घर की रानी माना है
दो : ( तुम ऐसा आदर मत लेना ) -२ आड़ हो जो अपमान की
बच्चों तुम तक़दीर …

रह न सके अब इस दुनिया में युग सरमायादारी का
तुमको झंडा लहराना है मेहनत की सरदारी का
( तुम चाहो तो ) -२ बदल के रख दो क़िस्मत हर इन्सान की
बच्चों तुम तक़दीर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *