Chaand Aayaa Hai Zamiin Pe Aaj Garabe Kii Raat Men Lyrics – Dil Hi Dil Mein

The song “Chaand Aayaa Hai Zamiin Pe Aaj Garabe Kii Raat Men” from the movie Dil Hi Dil Mein is a famous Song, sung by Kavita Krishnamurthy. The song is composed by A R Rahman with lyrics written by Mehboob.

Movie: Dil Hi Dil Mein
Singer(s): Kavita Krishnamurthy
Musician(s): A R Rahman
Lyrics: Mehboob

Chaand Aayaa Hai Zamiin Pe Aaj Garabe Kii Raat Men Song Lyrics-Dil Hi Dil Mein

चाँद आया है ज़मीं पे आज गरबे की रात में

छुपा है वो यहीं-कहीं पे आज गरबे की रात में

अरे ढूँढो-ढूँढो रे शरमा रहा है वो

कुछ तो बात है जो आया वो

अरे ढूँढो-ढूँढो रे शर्मा रहा है वो
कुछ तो बात है जो आया वो

मौक़ा है ये कहने-सुनने का

मौक़ा निकलने ना दो

मौक़ा है ये कहने सुनने का
मौक़ा निकलने ना दो
चाँद आया है ज़मीं पे आज गरबे की रात में
छुपा है वो यहीं-कहीं पे आज गरबे की रात में

चुप तुम्हारे उन लबों पे भी है

चुप हमारे इन लबों पे भी है

बोलती हैं ये निगाहें मेरे यार मेरे यार

चुप तुम्हारे उन लबों पे भी है
चुप हमारे इन लबों पे भी है
बोलती हैं ये निगाहें मेरे यार मेरे यार

हो हसीं हो सनम तुम चाँद से भी ज्यादा

हो हसीं हो सनम तुम चाँद से भी ज्यादा
गहरी हैं ज़ुल्फ़ें जैसे रात कोई

हो तारीफ़ें करो ना इतनी भी ज्यादा

रुकें ना शरम से ये साँसें मेरी

जो दिल में है बोलूँ मैं

बस तुम को ही देखूँ मैं

जीवन यूँ ही बिता दूँ ओह हो मेरे यार मेरे यार

मेरे यार मेरे यार

चाँद आया है ज़मीं पे आज गरबे की रात में
छुपा है वो यहीं कहीं पे आज गरबे की रात में
अरे ढूँढो-ढूँढो रे शरमा रहा है वो
कुछ तो बात है जो आया वो
अरे ढूँढो-ढूँढो रे शरमा रहा है वो
( मौक़ है ये कहने सुनने का
मौक़ा निकलने ना दो ) -२

प्यार सा नहीं जहाँ में कोई

यार सा नहीं जहाँ में कोई

दोनों के बिना यहाँ पे जीना क्या मेरे यार

हो प्यार सा नहीं जहाँ में कोई
यार सा नहीं जहाँ में कोई
दोनों के बिना यहाँ पे जीना क्या मेरे यार

हो पहली नज़र में लूटा था दिल को

जादूगर सलाम मेर तुमको

हूँ इतनी मोहब्बत दोगे जो हमको

कम ही पड़ेगी ज़िंदगी हमको

जनमों का नाता है ये

प्यार-वफ़ा का रिश्ता है ये

टूटे ना ये बंधन देखो हो मेरे यार मेरे यार

मेरे यार मेरे यार

क्या-क्या इरादे होने लगे हैं इस गरबे की रात में

इस गरबे की रात में

क़समे-वादे होने लगे हैं इस गरबे की रात में

इस गरबे की रात में

वाह रे वाह क्या आई है ये रात रे

छिड़ी है मिलन की कोई बात रे

हम भी तो हैं तुम दिलवालों के ही साथ रे

हम भी तो हैं तुम दिलवालों के ही साथ रे
हो
हम भी तो हैं तुम दिलवालों के ही साथ रे -४

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *