The song “Duub Jaaye Jo Qisamat Kaa Taaraa” from the movie Parchhain is a famous Song, sung by Lata Mangeshkar. The song is composed by C Ramchandra with lyrics written by Noor Lucknowi.

Movie: Parchhain
Singer(s): Lata Mangeshkar
Musician(s): C Ramchandra
Lyrics: Noor Lucknowi

Duub Jaaye Jo Qisamat Kaa Taaraa Song Lyrics-Parchhain

डूब जाये
(डूब जाये जो क़िस्मत का तारा
कोई होता नहीं फिर सहारा) -२
डूब जाये

ओ~ चाँद सूरज हो रोशन हमें क्या
ओ~ कोई फूलों का गुलशन हमें क्या
इस ? जीवन हमारा
डूब जाये …

ऐसा उलझा है कांटों में दामन
अपनी परछैइं है अपनी दुश्मन
लाख तूफ़ान हैं
लाख तूफ़ान हैं और एक बेचारा
कोई होता नही फिर सहारा
डूब जाये …

ओ रह गई आरज़ू नज़र में
ओ कटी अपनी दुनिया भँवर में
जब नज़र आ रहा था किनारा
कोई होता नहीं फिर सहारा
डूब जाये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *