Ek Nagmaa Ek Taaraa Ek Gunchaa Ek Jaam Lyrics – Naghma-E-Dil (Non-Film)

The song “Ek Nagmaa Ek Taaraa Ek Gunchaa Ek Jaam” from the movie Naghma-E-Dil (Non-Film) is a famous Song, sung by Ghulam Ali. The song is composed by \r\n\t

  • Lyricist: with lyrics written by Saghar Siddiqui.
    Movie: Naghma-E-Dil (Non-Film)
    Singer(s): Ghulam Ali
    Musician(s): Ek Nagmaa Ek Taaraa Ek Gunchaa Ek Jaam Song Lyrics-Naghma-E-Dil (Non-Film)

    एक नग़्मा एक तारा एक ग़ुँचा एक जाम
    ऐ ग़म-ए-दौराँ ग़म-ए-दौराँ तुझे मेरा सलाम

    ज़ुल्फ़ आवारा गरेबाँ चाक घबराई नज़र
    इन दिनों ये है जहाँ में ज़िंदगानी का निज़ाम

    चन्द तारे टूट कर दामन में मेरे आ गिरे
    मैंने पूछा था सितारों से तेरे ग़म का मक़ाम

    पड़ गईं पैराहन-ए-सुबह-ए-चमन पर सलवटें
    याद आ कर रह गई है बेख़ुदी की एक शाम

    तेरी इस्मत हो के हो मेरे हुनर की चाँदनी
    वक़्त के बाज़ार में हर चीज़ के लगते हैं दाम

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *