The song “Gam Diye Mustaqil Kitanaa Naazuk Hai Dil” from the movie Shahjehan is a famous Song, sung by K L Saigal. The song is composed by Naushad with lyrics written by Majrooh Sultanpuri.

Movie: Shahjehan
Singer(s): K L Saigal
Musician(s): Naushad
Lyrics: Majrooh Sultanpuri

Gam Diye Mustaqil Kitanaa Naazuk Hai Dil Song Lyrics-Shahjehan

ग़म दिये मुस्तक़िल, कितना नाज़ुक है दिल, ये न जाना
हाय हाय ये ज़ालिम ज़माना

दे उठे दाग लौ उनसे ऐ माह-ए-नौ कह सुनना
हाय हाय ये ज़ालिम ज़माना

दिल के हाथों से दामन छुड़ाकर
ग़म की नज़रों से नज़रें बचाकर
उठके वो चल दिये, कहते ही रह गये हम फ़साना
हाय हाय ये ज़ालिम ज़माना

कोई मेरी ये रूदाद देखे, ये मोहब्बत की बेदाद देखे
फुक रहा है जिगर, पड़ रहा है मगर मुस्कुराना
हाय हाय ये ज़ालिम ज़माना

ग़म दिये मुस्तक़िल, कितना नाज़ुक है दिल, ये न जाना
हाय हाय ये ज़ालिम ज़माना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *