Katate Hain Dukh Men Ye Din, Pahaluu Badal Badal Ke Lyrics – Parchhain

The song “Katate Hain Dukh Men Ye Din, Pahaluu Badal Badal Ke” from the movie Parchhain is a famous Song, sung by Lata Mangeshkar. The song is composed by C Ramchandra with lyrics written by Noor Lucknowi.

Movie: Parchhain
Singer(s): Lata Mangeshkar
Musician(s): C Ramchandra
Lyrics: Noor Lucknowi

Katate Hain Dukh Men Ye Din, Pahaluu Badal Badal Ke Song Lyrics-Parchhain

कटते हैं दुख में ये दिन, पहलू बदल बदल के – २
रहते हैं दिल के दिल में, अरमाँ मचल मचल के
कटते हैं …

तड़पाएगा कहाँ तक, ऐ ददर्-ए-दिल बता
रुसवा कहीं न कर दें, आँसू निकल निकल के
कटते हैं …

ये ख्वाब पर जो चमके, ?
फेंका गया है दिल का, गुँचा कुचल कुचल के
कटते हैं …

उल्फ़त की ठोकरों से, आखिर न बच सका दिल
आखिर न बच सका दिल
जितने कदम उठाए, हमने सम्भल सम्भल के
कटते हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *