Kyaa Khoyaa Kyaa Paayaa Jag Men Lyrics – Samvedna/ Sensitiviy (Non-Film)

The song “Kyaa Khoyaa Kyaa Paayaa Jag Men” from the movie Samvedna/ Sensitiviy (Non-Film) is a famous Song, sung by Jagjit Singh. The song is composed by Jagjit Singh with lyrics written by Atal Bihari Vaajpayi.

Movie: Samvedna/ Sensitiviy (Non-Film)
Singer(s): Jagjit Singh
Musician(s): Jagjit Singh
Lyrics: Atal Bihari Vaajpayi

Kyaa Khoyaa Kyaa Paayaa Jag Men Song Lyrics-Samvedna/ Sensitiviy (Non-Film)

क्या खोया क्या पाया जग में

मिलते और बिछड़ते मग में

मुझे किसी से नहीं शिक़ायत

यद्यपि छला गया पग पग में

एक दृष्टि बीती पर डालें

यादों की पोटली टटोलें

अपने ही मन से कुछ बोलें

प्रथ्वी लाखों वर्ष पुरानी

जीवन एक अनन्त कहानी

पर तन की अपनी सीमाएँ

यद्यपि सौ शरदों की वाणी

इतना काफ़ी है अंतिम दस्तक

पर ख़ुद दरवाज़ा खोलें

अपने ही मन से कुछ बोलें

जन्म मरण का अविरत फेरा

जीवन बंजारों का डेरा

आज यहां कल कहाँ कूच है

कौन जानता किधर सवेरा

अँधियारा आकाश असीमित

प्राणों के पंखों को तौलें

अपने ही मन से कुछ बोलें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *