The song “Machal Ke Jab Bhii Aankhon Se” from the movie Griha Pravesh is a famous Song, sung by Bhupinder. The song is composed by Kanu Roy with lyrics written by Gulzar.

Movie: Griha Pravesh
Singer(s): Bhupinder
Musician(s): Kanu Roy
Lyrics: Gulzar

Machal Ke Jab Bhii Aankhon Se Song Lyrics-Griha Pravesh

मचल के जब भी आँखों से छलक जाते हैं दो आँसू
सुना है आबशारों को बड़ी तक़लीफ़ होती है

खुदारा अब तो बुझ जाने दो इस जलती हुई लौ को
चरागों से मज़ारों को बड़ी तक़लीफ़ होती है, मचल …

कहूँ क्या वो बड़ी मासूमियत से पूछ बैठे हैं
क्या सचमुच दिल के मारों को बड़ी तक़लीफ़ होती है
मचल …

तुम्हारा क्या तुम्हें तो राह दे देते हैं काँटे भी
मगर हम ख़ाकज़ारों को बड़ी तक़लीफ़ होती है
मचल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *