Main To Mere Paapaa Kii ##Carbon Copy## (Nahiin ##Fax## Nahiin ##Xerox##) Lyrics – Yeh Hai Jalwa

The song “Main To Mere Paapaa Kii ##Carbon Copy## (Nahiin ##Fax## Nahiin ##Xerox##)” from the movie Yeh Hai Jalwa is a famous Song, sung by Kumar Sanu. The song is composed by Himesh Reshammiya with lyrics written by Sudhakar Sharma.

Movie: Yeh Hai Jalwa
Singer(s): Kumar Sanu
Musician(s): Himesh Reshammiya
Lyrics: Sudhakar Sharma

Main To Mere Paapaa Kii ##Carbon Copy## (Nahiin ##Fax## Nahiin ##Xerox##) Song Lyrics-Yeh Hai Jalwa

माँ ने मुझे समझाया था photoतुम्हारा दिखलाया था
जाना मैंने जाना तुमको पहचाना
तुमसे मेरा रिश्ता जाने कितना है पुराना
नही faxनहीं xeroxना ही telexया computerकी floppy
मैं तो मेरे पापा की कार्बन काॅपी
नही फ़ैक्स …

नहला हो तुम तो मैं दहला हूँ
मौक़ा है स.म्भल जाओ कहता हूँ
रिश्ते की लिहाज़ मैं करता हूँ
ऐसा ना समझना के डरता हूँ
जाएगी बात अब कोर्ट में
तौलो न तुम मुझे नोट में
समझो पापा प्यारे मेरे ये इशारे
वरना दिखाऊँगा मैं दिन में तुमको तारे
नही फ़ैक्स …

ज़िद पे जो मैं अड़ जाऊँगा
नींदों को हराम कर जाऊँगा
दुनिया में बैंड मैं बजाऊंगा
तू है मेरा बाप ये बताऊँगा
है काँच का ये तेरा महल
पत्थर ना लग जाए अब तू स.म्भल
आँखों से मैं काजल चुरा के ले जाऊँगा
तुम जो ना माने तो जीना मुश्किल कर जाऊँगा
नही फ़ैक्स …

माँ ने मुझे समझाया था फ़ोटो तुम्हारा दिखलाया था
जाना मैने जाना तुमको पहचाना
तुमसे मेरा रिश्ता जाने कितना है पुराना
नही फ़ैक्स नहीं ज़ेरोक्स ना ही टेलेक्स या कम्प्यूटर की फ़्लाॅपी
मैं तो मेरे पापा की कार्बन काॅपी
नही फ़ैक्स …

छोड़ के देस चले आए हो
ये है परदेस तुम पराए हो
ऊपर से नक़ाब ये चढ़ाए हो
अंदर से बड़े ही घबराए हो
indianहैं हम नहीं भूलना
लौट चलो है क्या सोचना
चेहरा तुम्हारा साफ़ कह रहा है
झूठी ये हँसी है देखो दिल रो रहा है
नही फ़ैक्स …

हो एक पहेली बन गया हूँ मैं
सुलझेगी ये कैसे डर गया हूँ मैं
?? तू आया है
बेटे मेरा दिल भर आया है
?? मैं नहीं मजबूर हूँ बुरा मैं नहीं
मुझको माफ़ी दे दे बेटा है तू मेरा
लग जा गले से आखिर साया है तू मेरा
नही फ़ैक्स …

तू है तेरे पापा की कार्बन काॅपी कार्बन काॅपी
नही फ़ैक्स …

जीवन तो ये आना जाना है
ग़म और खुशी का तराना है
और मुझे कर्ज़ ये चुकाना है
पिता हूँ मैं फ़र्ज़ ये निभाना है
शायद मैं कल रहूँगा नहीं
तुमको भी तंग करूँगा नहीं
मेरा और तुम्हारा ऐसा है ये नाता
बंधन है लहू का ये भुलाया नहीं जाता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *