O Qismat Teraa Ho Buraa (Duniyaa Ke Sitam Kaa Ko_Ii) Lyrics – Shair

The song “O Qismat Teraa Ho Buraa (Duniyaa Ke Sitam Kaa Ko_Ii)” from the movie Shair is a famous Song, sung by Suraiyya. The song is composed by Ghulam Mohammad with lyrics written by Shakeel Badayuni.

Movie: Shair
Singer(s): Suraiyya
Musician(s): Ghulam Mohammad
Lyrics: Shakeel Badayuni

O Qismat Teraa Ho Buraa (Duniyaa Ke Sitam Kaa Ko_Ii) Song Lyrics-Shair

दुनिया के सितम का कोई शिक़वा न करेंगे
रूठी हुई क़िस्मत से मगर इतना कहेंगे

ओ क़िस्मत तेरा हो बुरा -२
क्यूँ दिल के
क्यूँ दिल के टुकड़े कर दिये
दिल के टुकड़े कर दिये
दिल के टुकड़े -३
कर दिये

इस दिल पे जो बीती है अरे किसको सुनायें
थीं अपने लिये सारे ज़माने की जफ़ायें
बदले में भलाई के मिल्लि हमको बुराई
उजड़े हुये अरमान भी देते हैं दुहाई

ओ क़िस्मत तेरा हो बुरा -२
क्यूँ दिल के
क्यूँ दिल के टुकड़े कर दिये
दिल के टुकड़े कर दिये
दिल के टुकड़े -३
कर दिये

थी किसको ख़बर दिल की कली खिल न सकेगी
होनी न ख़ता फिर भी सज़ा हमको मिलेगी
जब टूट गया दर्द भरे दिल का सहारा
बरबाद उम्मीदों ने यही रो के पुकारा

ओ क़िस्मत तेरा हो बुरा -२
क्यूँ दिल के
क्यूँ दिल के टुकड़े कर दिये
दिल के टुकड़े कर दिये
दिल के टुकड़े -३
कर दिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *