Sitam The Hazaar Shukr Ke Man Darapan Hai Jag Saaraa Lyrics – Dushman/ The Enemy

The song “Sitam The Hazaar Shukr Ke Man Darapan Hai Jag Saaraa” from the movie Dushman/ The Enemy is a famous Song, sung by K L Saigal. The song is composed by Pankaj Mullick with lyrics written by Arzoo Lucknowi.

Movie: Dushman/ The Enemy
Singer(s): K L Saigal
Musician(s): Pankaj Mullick
Lyrics: Arzoo Lucknowi

Sitam The Hazaar Shukr Ke Man Darapan Hai Jag Saaraa Song Lyrics-Dushman/ The Enemy

सितम थे ज़ुल्म थे आफ़त थे इंतज़ार के दिन
हज़ार शुक्र के देखेंगे अब बहार दिन -२

आवाज़ की दुनिया के दोस्तो
मैं ज़रा देर से पहुँचा
इसके लिये मुझे अफ़सोस है
लेकिन आज आप लोगों को एक बिल-कुल
नया गाना सुनाता हूँ
ready

आ ह आह हा हा हा हा
मन दरपन है जग सारा
ये जग सारा
मन दरपन है जग सारा

मन अन्धियारा
जग अन्धियारा
मन दरपन है जग सारा
आ ह आह हा हा हा हा

उल्टी है ये जानी दुनिया
दुख का दुख कैसा -२
ऐसा
आँखों में तिल जैसे काला -२
रूप अन्धेरा
रूप अन्धेरा काम उजारा

मन दरपन है जग सारा

बेरी गाये कैसे सोयें -२
काम किये दिन नाहीं होये
नीरस
दुख की नैयाँ और खेवैया
आप की नैयाँ अपनी नैया
जाल उठा ले माझी बन जा -२
वो है किनारा ये है धारा -२

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *