Suuraj Ke Jaisii Golaa_Ii La_Ii La_Ii Terii Dhuum Har Kahiin Lyrics – Kaala Bazaar

The song “Suuraj Ke Jaisii Golaa_Ii La_Ii La_Ii Terii Dhuum Har Kahiin” from the movie Kaala Bazaar is a famous Song, sung by Mohammad Rafi. The song is composed by S D Burman with lyrics written by Shailendra Singh.

Movie: Kaala Bazaar
Singer(s): Mohammad Rafi
Musician(s): S D Burman
Lyrics: Shailendra Singh

Suuraj Ke Jaisii Golaa_Ii La_Ii La_Ii Terii Dhuum Har Kahiin Song Lyrics-Kaala Bazaar

सूरज के जैसी गोलाई
चंदा सी ठंडक भी पाई
खनके तो प्यारे दुहाई
तेरी धूम हर कहीं
तुझसा यार कोई नहीं
लई लई
हमको तो प्यारे तू सबसे प्यारा
लई लई तेरी धूम हर कहीं …

दुनिया की गाड़ी का पहिया
तू चोर तू ही सिपहिया
राजों का राजा रुपइया -२
लई लई तेरी धूम हर कहीं …

औरत के माथे का टीका
ठुमरी और कजरी से मीठा
तू राज़ है ज़िन्दगी का -२
लई लई तेरी धूम हर कहीं …

बूढ़ों की तू ही जवानी
बचपन की दिलकश कहानी
तेरे बिना दूध पानी -२
लई लई तेरी धूम हर कहीं …

दौलत का मज़हब चला के
हम एक मंदिर बना के
पूजेंगे तुझको बिठा के -२
लई लई तेरी धूम हर कहीं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *